Subhash Chandra Bose Quotes Anmol Vichar

Subhash Chandra Bose Quotes  Anmol Vichar


तुम  मुझे  खून  दो  मैं  तुम्हे  आज़ादी  दूंगा 


“एक सच्चे सैनिक को सैन्य प्रशिक्षण और आध्यात्मिक प्रशिक्षण दोनों की ज़रुरत होती है।”

“राष्ट्रवाद मानव जाति के उच्चतम आदर्शों ; सत्यम् , शिवम्, सुन्दरम् से प्रेरित है।”

“मेरे पास एक लक्ष्य है जिसे मुझे हर हाल में पूरा करना हैं।  मेरा जन्म उसी के लिए हुआ है ! मुझे नैतिक विचारों की धारा में नहीं बहना है। ”

“अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना सबसे बड़ा अपराध है।”

“अपने पूरे जीवन में मैंने कभी खुशामद नहीं की है।  दूसरों को अच्छी लगने वाली बातें करना मुझे नहीं आता।”
 

 



राष्ट्रवाद  मानव  जाति  ) के  उच्चतम आदर्शों  सत्यम  , शिवम् , सुन्दरम  से   प्रेरित   है . 


भारत  में  राष्ट्रवाद  ने  एक ऐसी शक्ति  ) का  संचार  किया  है  जो  लोगों  के  अन्दर  सदियों  से  निष्क्रिय  पड़ी  थी . 


याद  रखिये  सबसे  बड़ा  अपराध   अन्याय सहना और  गलत  के  साथ  समझौता करना  है. 


एक  सच्चे  सैनिक  को  सैन्य  और  आध्यात्मिक  दोनों  ही  प्रशिक्षण  की  ज़रुरत  होती  है . 


इतिहास   में  कभी  भी विचार -विमर्श  से  कोई  ठोस  परिवर्तन   नहीं  हासिल  किया  गया  है . 

मेरे  मन  में  कोई  संदेह  नहीं  है  कि  हमारे  देश  की  प्रमुख  समस्याएं  गरीबी ,अशिक्षा , बीमारी ,  कुशल  उत्पादन  एवं   वितरण  सिर्फ  समाजवादी  तरीके  से  ही  की  जा  सकती  है . 

ये हमारा कर्तव्य है कि हम अपनी स्वतंत्रता  का मोल अपने खून से चुकाएं. हमें अपने बलिदान और परिश्रम से जो आज़ादी  मिले, हमारे अन्दर उसकी रक्षा करने की ताकत  होनी चाहिए. 

आज हमारे पास एक इच्छा होनी चाहिए ‘मरने की इच्छा’,  क्योंकि मेरा देश जी सके – एक शहीद की मौत का सामना करने की शक्ति, क्योंकि स्वतंत्रता का मार्ग शहीद के खून से प्रशस्त हो सके।”

“जब आज़ाद हिंद फौज खड़ी होती हैं तो वो ग्रेनाइट की दीवार की तरह होती हैं ; जब आज़ाद हिंद फौज मार्च करती है तो स्टीमर की तरह होती हैं। ”

 



आज हमारे अन्दर बस एक ही इच्छा होनी चाहिए, मरने  की इच्छा ताकि भारत जी सके! एक शहीद की मौत मरने की इच्छा ताकि स्वतंत्रता  का मार्ग शहीदों के खून से प्रशश्त हो सके.  सुभाष चन्द्र बोस) 

एक सैनिक  के रूप में आपको हमेशा तीन आदर्शों को संजोना और उन पर जीना  होगा : सच्चाई , कर्तव्य और बलिदान.जो सिपाही हमेशा अपने देश  के प्रति वफादार रहता है, जो हमेशा अपना जीवन बलिदान करने को तैयार रहता है, वो अजेय है. अगर तुम भी अजेय बनना चाहते हो तो इन तीन आदर्शों को अपने  ह्रदय  में समाहित कर लो. 

भारत  में राष्ट्रवाद की नीव की शक्ति लोगो को जगाने का कार्य किया है जो की पहले निष्क्रिय  हो गयी थी


राजनीतिक सौदेबाजी का एक रहस्य यह भी है जोआप वास्तव में हैं उससे अधिक मजबूत दिखते हैं।”

Subhash Chandra Bose Quotes  Anmol Vichar
“अजेय (कभी न मरने वाले) हैं वो सैनिक जो हमेशा अपने राष्ट्र के प्रति वफादार रहते हैं, जो हमेशा अपने जीवन का बलिदान करने के लिए तैयार रहते हैं।”



“मैंने अपने अनुभवों से सीखा है ; जब भी जीवन भटकता हैं, कोई न कोई किरण उबार लेती है और जीवन से दूर भटकने नहीं देती।”

“इतिहास गवाह है की कोई भी वास्तविक परिवर्तन चर्चाओं से कभी नहीं हुआ।”

“एक व्यक्ति एक विचार के लिए मर सकता है, लेकिन वह विचार उसकी मृत्यु के बाद, एक हजार जीवन में खुद को अवतार लेगा।”

Subhash Chandra Bose Quotes  Anmol Vichar
एक सच्चे सैनिक  को सैन्य प्रशिक्षण के साथ साथ आध्यात्मिक शिक्षण  की भी आवश्कयता होती है
हमारे देश की गरीबी , अशिक्षा, बेरोजगारी, बीमारी जैसे अनेक समस्याओ  का अंत समाजवादी तरीके से ही किया जा सकता है

हम सभी के अंदर बस एक इच्छा  होनी चाहिए , मरने की इच्छा ताकि भारत जी सके, एक सैनिक  के शाहदत से ही देश हमेसा जिन्दा खड़ा रहता है

हमारा यह कर्तव्य है की अपने स्वतंत्रता  की रक्षा अपने खून से चुकाने के लिए तैयार रहे, हमे जो भी आजादी  मिली है उसकी हर हाल में रक्षा करना हमारा परम कर्तव्य है

“अच्छे चरित्र निर्माण करना ही छात्रों का मुख्य कर्तव्य होना चाहियें।”

“मेरी सारी की सारी भावनाएं मृतप्राय हो चुकी हैं और एक भयानक कठोरता मुझे कसती जा रही है।”


“जीवन में प्रगति का आशय यह है की शंका संदेह उठते रहें, और उनके समाधान के प्रयास का क्रम चलता रहे।”

 


जीवन के हर पल में आशा  की कोई ना कोई किरण जरुर आती है जो हमे आगे बढने का मार्ग  प्रस्तत करती है
जिन्हें खुद की ताकत  पर भरोसा होता है वही संघर्षो में आगे बढ़ते है अक्सर दुसरे के दम पर ताकत  दिखाने वाले घायल ही होते है

यदि जीवन में कोई संघर्ष  ना हो, किसी प्रकार का भय भी ना हो तो जीवन जीने  का आनंद ही खत्म हो जाता है

“माँ का प्यार स्वार्थ रहित और सबसे गहरा होता है ! इसको किसी भी प्रकार नापा  नहीं जा सकता।”

“हमारा कार्य केवल कर्म करना हैं ! कर्म ही हमारा कर्तव्य है ! फल देने वाला स्वामी ऊपर वाला  है।”

“संघर्ष ने मुझे मनुष्य बनाया, मुझमे आत्मविश्वास उत्पन्न हुआ ,जो पहले मुझमे नहीं था।”

मेरा जीवन मेरे लक्ष्यों  को पूरा करने के लिए हुआ है जिसे पूरा करना मेरा कर्तव्य  है नैतिक विचारो की धारा में मै अपने लक्ष्य  से कभी भटक नही सकता
आजादी कभी मागने से नही मिलती इसके लिए अक्सर संघर्ष  ही करना पड़ता है

जो फूल  देखकर भी विचलित हो जाये उन्हें कांटे भी जल्दी घाव करती है -सुभाष चन्द्र बोस

Subhash Chandra Bose Quotes  Anmol Vichar

यदि खुद के स्वाभिमान को जानना है तो किसी मछली  से सीख सकते हो यह सिर्फ जल और स्थान बदलने पर भी अपने मातृभूमि  के लिए तड़प तड़प के अपनी जान गवा देती है

जो भी तुम कुछ करते हो यह तुम्हारा कर्म  है इसमें किसी भी प्रकार का कोई बटवारा नही होता है इसका फल  भी तुम्हे ही भोगना है

हमे ये नही पता की आजादी  की इस लड़ाई में कौन कौन जिन्दा बचेगा लेकिन यह जरुर पता है की एक दिन आजादी  हमे ही मिलेगी

जिसमे श्रद्धा नही होती है वह इन्सान  ज्यादा कष्टों और दुखो से घिरा होता है

छात्रों के चरित्र निर्माण  से ही उनके भविष्य का निर्माण होता है

बिना जोश से किसी भी महान कार्य  को नही किया जा सकता है

व्यर्थ की बातो में खोने के बजाय जीवन के एक एक पल के महत्व को समझना चाहिए
कर्मो से आप कभी खुद को छुड़ा नही सकते 

(Subhash Chandra Bose  सुभाष चन्द्र बोस)

 28 total views,  1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *